Computer Programming Kya Hai?

Spread the love

Computer Programming Kya Hai?

Computer Programming Kya Hai? नमस्कार दोस्तों, आपका हमारे इस नई आर्टिकल में आपका बहुत-बहुत स्वागत है| आज हम आपको बताएंगे कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या है और कंप्यूटर लैंग्वेज और मशीन लेकर भेज दे क्या अंतर होता है और साथ ही साथ हम आपको बताएंगे कि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कितने प्रकार की होती है? इस आर्टिकल में आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है और मशीन लैंग्वेज क्या है दोनों के बारे में बहुत सी जानकारी आपको दी जाएगी| आज आपको इन लैंग्वेज के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिलेगा|

वैसे तो आप जानते ही होंगे की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एक जरिया है जिसकी वजह से हम कंप्यूटर से कार्य करवा पाते हैं| प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एक निर्देशों का एक बंडल होती है| अगर आप चाहते हैं कि आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में पूरी जानकारी हो तो आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़ें|

कंप्यूटर हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों पर काम करता है और हमें उसी हिसाब से आउटपुट देता है| सॉफ्टवेयर इंजीनियर जोकि कंप्यूटर प्रोग्रामिंग करते हैं जिन्हें हम प्रोग्रामर कहते हैं| प्रोग्रामर प्रोग्राम करने के लिए विशेष तरह की लैंग्वेज का इस्तेमाल करता है जिन्हें हम प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कहते हैं| जैसे कि C++, Java, C#, Php, Javascript, Sql | इस पोस्ट में आपको कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में हिंदी में बताया जाएगा तो आप इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें|

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या होती है?

Computer Programming Kya Hai?
Computer Programming Kya Hai?

एक उदाहरण लेते हैं जैसे की मुझे किसी व्यक्ति से कुछ काम करवाना है और सामने वाला व्यक्ति कोई और भाषा मे बात करता है| हमें बहुत वह भाषा नहीं आती है तो हम क्या करते हैं| जिस व्यक्ति को वह भाषा आती है और अरे हमारी भाषा की जाती है| इस व्यक्ति को हम दोनों के बीच दोनों की बातों को समझाने के लिए रखना पड़ता है| उसी प्रकार कंप्यूटर को हमारी भाषा बताने के लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को हमारे बीच आ गया है ताकि हम जो काम कंप्यूटर से करवाना चाहते हैं वह काम उसके पास पहुंच जाए और हो वह हमारा काम सही तरीके से कर दे|

कंप्यूटर को निर्देश देने के लिए एक प्रोग्राम बनाया जाता है जो कि कंप्यूटर को दिए गए निर्देश का एक बंडल होता है| हमारे द्वारा बनाया गया प्रोग्राम कितना सही और स्पष्ट होगा कंप्यूटर को उतना ही जल्दी समझ जाएगा और उसने ही सही तरीके से वह हमें आंसर देगा| निर्देशों को लिखने में का का इस्तेमाल किया जाता है प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कहते हैं|

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या होती है?

Computer Programming Kya Hai?
Computer Programming Kya Hai?

कंप्यूटर हमारे द्वारा बोली जाने वाली वाली भाषा नहीं समझता है| कंप्यूटर से बात करने का एक ही जरिया है क्योंकि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है का इस्तेमाल करके हम बहुत ही आसानी से कंप्यूटर से अपना कोई भी काम और कंप्यूटर से कम्युनिकेशन कर सकते हैं|

मशीन लैंग्वेज क्या होती है?

Computer Programming Kya Hai?
Computer Programming Kya Hai?

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बहुत से प्रकार की होती है जिसे सिर्फ कंप्यूटर समझता है इन लैंग्वेज को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कहते हैं| मशीन लैंग्वेज ऐसी लैंग्वेज है जो कि एक बाइनरी कोड है इसमें सिर्फ दो ही अंक होते हैं| इस लैंग्वेज को 0 और 1 की फॉर्मेट में लिखा जाता है|

कंप्यूटर सिर्फ बाइनरी कोड को ही समझता है| कंप्यूटर बाइनरी कोड को इलेक्ट्रॉनिक सिगनल्स में कन्वर्ट कर देता है| मशीन लैंग्वेज कंप्यूटर की एक बेसिक लैंग्वेज है नीचे है बहुत ही आसानी से समझ लेता है इसमें जीरो का मतलब low/off होता है और एक का मतलब high/on होता है|

मशीन लैंग्वेज प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से बहुत कठिन होती है इसमें गलती होने की बहुत ही ज्यादा संभावना होती है|

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कितने प्रकार की होती है?

Computer Programming Kya Hai?
Computer Programming Kya Hai?

कंप्यूटर को हमारे द्वारा बोली जाने वाली लैंग्वेज समझ में नहीं आती है कंप्यूटर सिर्फ बाइनरी कोड को समझता है|

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज दो प्रकार की होती है|

  1. Low Level Language
  2. High Level Language

Low Level Language

Computer Programming Kya Hai?
Computer Programming Kya Hai?

Low Level लैंग्वेज दो प्रकार की होती है?

  1. Machine Language
  2. Assembly Language

1. Machine Language

पहली पीढ़ी के कंप्यूटर में मशीन लैंग्वेज का इस्तेमाल किया गया था इसलिए इसे First Genration Computer Language कहते हैं| हमारा कंप्यूटर बस मशीन लैंग्वेज को ही समझ पाता है| जोकि बाइनरी कोड 0 और 1 को समझता है| कंप्यूटर बाइनरी कोड को समझ कर इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल में कन्वर्ट कर देता है|

2. Assembly Language

यह एक ऐसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है| इस लैंग्वेज में हम नंबर के स्थान पर निमोनिक कोड का इस्तेमाल किया जाता है| असेंबली लैंग्वेज एक मशीन लैंग्वेज ही है| जिसमें भी जीरो और वन का इस्तेमाल किया जाता है| इसके साथ ही इसमें स्पेशल सिंपल का भी इस्तेमाल किया जाता है| मशीन लैंग्वेज को समझ पाना थोड़ा मुश्किल होता है| मशीन लैंग्वेज को समझने के लिए या फिर थोड़ा आसान बनाने के लिए असेंबली लैंग्वेज को तैयार किया गया इसमें हम जीरो वन के साथ-साथ सिंबल का भी यूज कर सकते हैं| पर कंप्यूटर दो जीरो कार्बन कॉपी समझता है इसलिए हमें सिंबल को 0 और 1 की नंबर में कन्वर्ट करना पड़ता है इसके लिए हम का यूज़ करते हैं जिसे हम असेंबलर कहते हैं|

High Level Language

Computer Programming Kya Hai?
Computer Programming Kya Hai?

हाई लेवल लैंग्वेज इस प्रकार की लैंग्वेज है इसमें इंग्लिश वर्ड और नंबर और सिंबल का इस्तेमाल करके प्रोग्राम लिखा जाता है| हाई लेवल लैंग्वेज कहते हैं| हाई लेवल लैंग्वेज को हम आसानी से समझ पाते हैं|

अब आप सोच रहे होंगे की कंप्यूटर तो बस 0 or 1 नंबर को ही समझ पाता है तो कंप्यूटर इस लैंग्वेज को कैसे समझ पाएगा इसके लिए हम एक कंपाइलर का इस्तेमाल करते हैं कंपाइलर इंग्लिश वर्ड और नंबर को और सिंपल को हाई लेवल लैंग्वेज से मशीन लैंग्वेज में कन्वर्ट कर देता है|

हाई लेवल लैंग्वेज दो प्रकार की होती है

Third Generation Programming Language

Fourth Generation Pragramming Language

1. Third Generation Programming Language

इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के आ जाने के बाद कंप्यूटर पर काम करना बहुत ही आसान हो गया| और प्रोग्राम मेरे को मशीन लैंग्वेज और असेंबली लैंग्वेज की जरूरत नहीं रही| प्रोग्रामर बहुत ही अच्छे तरीके से आसानी से प्रोग्रामिंग कर सकता है|

2. Fourth Generation Pragramming Language

इस लैंग्वेज को थर्ड जनरेशन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से बहुत ही ज्यादा अधिक आसान बताया गया| लैंग्वेज में वोटिंग करना बहुत ही आसान हो गया| इस लैंग्वेज के साथ साथ ही C,C++ लैंग्वेज का अविष्कार हुआ जिसकी वजह से प्रोग्रामिंग करना बहुत ही आसान हो गया|

हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको बहुत ही पसंद आई होगी तो अपने विचार कमेंट बॉक्स में लिखना नहीं भूले|

धन्यवाद !


Spread the love

Leave a Comment